Connect with us

Online Bhulekh

{Jamabandi} जानिये कैसे निकालें ऑनलाइन जमाबंदी (Haryana online jamabandi) नकल?

Published

on

Jamabandi Haryana

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं, आज के समय में सूचना एवं प्रौद्योगिकी के विकास के साथ साथ ही देश एवं प्रदेशों की राज्य सरकारें भी ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से जनउपयोगी साधनों को सुलभ करने के प्रयास में लगी हुयी हैं! जहाँ एक ओर केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत सभी जरुरी दस्तावेजों को ऑनलाइन उपलब्ध करवाया जा रहा है, वहीँ दूसरी ओर हरियाणा सरकार के द्वारा भूमि राजस्व से सम्बंधित दस्तावेजों को ऑनलाइन प्राप्त करने की सुविधा प्रदान की जा रही है!

इसी सम्बन्ध में हरियाणा सरकार के भू राजस्व विभाग के द्वारा जमाबंदी (jamabandi) की नकल ऑनलाइन प्राप्त करने की सुविधा दी जा रही है! जनता के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वाह करते हुए जन सामान्य तक सुविधाओं और सेवाओं के क्रियान्वयन में पूरे प्रयासों और तकनीकी मदद से अब भूमि राजस्व से जुड़े दस्तावेजों का रख रखाव सुरक्षित और सरलतम रूप से सहज हो गया है!

प्रस्तुत लेख में आप जानेंगे कि जमाबंदी  का भू राजस्व के अंतर्गत क्या अर्थ है, एवं कैसे आप हरियाणा सरकार जनउपयोगी वेब पोर्टल के माध्यम से आसानी से जमाबंदी की nakal कैसे प्राप्त कर सकते हैं, साथ ही कुछ कठिन शब्दावलियों को हम बहुत ही सरल शब्दों में यहाँ परिभाषित कर रहे हैं-

Also Read: Haryana Employment Exchange HREX

आइये जानते हैं क्या है जमाबंदी (Jamabandi)?

जमाबंदी Jamabandi भूमि के अधिकार से सम्बंधित एक प्रकार का दस्तावेज होता है जो प्रत्येक राजस्व संपत्ति के सम्बन्ध में तैयार किया जाता है, इसमें भूमि के स्वामित्व, खेती और भूमि के शीर्षक, भूमि के विभिन्न अधिकारों की एंट्री की जाती है! जमाबंदी को प्रति ५ वर्ष में संशोधित किया जाता है!

जमाबंदी Jamabandi पटवारी के द्वारा तैयार किया जाने वाला दस्तावेज है, राजस्व अधिकारी के द्वारा इसे अनुप्रमाणित किया जाता है! जमाबंदी की दो प्रतियां तैयार की जाती हैं! इसकी एक प्रति जिला रिकॉर्ड रूम में प्रेषित की जाती हैं एवं दूसरी प्रति पटवारी के पास सुरक्षित रखी जाती है! पटवारी के द्वारा निपटान की मुद्रा, सत्यापन आदि की प्रविष्टियाँ पंजाब भू राजस्व अधिनियम (Punjab Land Revenue Code 1887) १८८७ की धारा 44 के अंतर्गत जमाबंदी में संलग्न की जाती हैं!

भू अधिकारों के सभी बदलाव जो राजस्व विभाग को नोटिस के आधार पर प्राप्त होते हैं उनका विवरण निर्धारित प्रक्रिया के द्वारा राजस्व अधिकारी की अनुमति से जमाबंदी में शामिल किया जाता है!

ऑनलाइन जमाबंदी (Haryana Online Jamabandi ) के वेब पोर्टल के माध्यम से हरियाणा सरकार ने इन सभी कठिन शब्दावलियों को सरल करने का प्रयास किया है. भू राजस्व से सम्बंधित सभी प्रकार के दस्तावेजों को प्राप्त करवाने के साथ साथ भू राजस्व विभाग का मानना है की आम जनता को भू राजस्व से सम्बंधित सभी प्रकार की जानकारियाँ और राजस्व सम्बंधित सभी कठिन शब्दावलियों का अर्थ आम जनता के लिए परिभाषित किया जाना चाहिए!

म्युटेशन रजिस्टर : म्युटेशन से अर्थ परिवर्तन से है, यह भूमि के स्वामित्व अथवा भूमि के शीर्षक में बदलाव से सम्बंधित हो सकता है, इसमें अंतिम जमाबंदी के खेवट के विषय में जानकारी उपलब्ध कराइ जाती है, जिनमे प्रस्तावित सुधार किया जाता है (कॉलम क्र. 1 से 7 में)  और कॉलम क्र. 8 से 12 में इसके सम्बन्ध में जानकारी उपलब्ध होती है!

कॉलम क्र. 13 परिवर्तन के प्रकार और उसकी जानकारी से सम्बंधित है! म्युटेशन फीस कॉलम 14 में और संक्षिप्त प्रतिवेदन कॉलम 15 में दर्शाया जाता है! रिमार्क्स कॉलम में वर्तमान जमाबंदी में परिवर्तन/म्युटेशन का सन्दर्भ दिया जाता है! कॉलम 8 से 12 को जमाबंदी के दिए गए समय के रूप में लिया जा सकता है, यही भूमि के शीर्षक की भी पुष्टि करता है!

म्युटेशन कई प्रकार के होते हैं, लेकिन इसके मुख्य प्रकारों में बिक्री, उपहार, बंधक के साथ बंधक, कब्जे के बिना बंधक, विनिमय, सिविल कोर्ट के आदेशों के आधार पर स्वामित्व में परिवर्तन का म्युटेशन, वंशानुक्रम का विभाजन, विभाजन, भूमि अवधि पट्टों, बंधक से छुटकारा आदि होते हैं!

खसरा गिरदवारी : यह फसल निरीक्षण का एक रजिस्टर है! पटवारी अक्टूबर से मार्च के महीने में हर छः महीने में खेत की कटाई का निरीक्षण करता है! वह फसल उगाने, मिटटी के वर्गीकरण, खेती करने और खेती करने वालों की क्षमता के बारे में तथ्यों को दर्ज करता है! यह मूल्यवान डाटा है और निदेशक, भूमि रिकार्ड्स हरियाणा के द्वारा तैयार और प्रकाशित कई रिटर्न और पूर्वानुमानों का आधार है! दस्तावेज को १२ साल की अवधि के लिए पटवारी की हिरासत में रखा जाता है जिसके बाद उसे फिर से प्राप्त करना और नष्ट करना भी होता है!

 

कैसे प्राप्त करें ऑनलाइन जमाबंदी नकल(online jamabandi nakal)?

  1. सबसे पहले नकल सेवाओं के लिए जन सहायक पोर्टल jamabandi.nic.in पेज पर जाएँ!
  2. अब अपने जिला, क्षेत्र, नगर/गाँव का नाम चुनें!
  3. फिर “जारीकर्ता प्राधिकरण” का चयन करें जो आमतौर पर “तहसीलदार” होता है!
  4. फिर नकल विकल्प पर “जमाबंदी” चुनें!
  5. फिर नकल संख्या, नाम, आधार संख्या, पता खेत/ खसरा/ खाता नम्बर दर्ज करें!
  6. नम्बर दर्ज करने के बाद आप उस पृष्ठ पर एक चित्र देख सकते हैं यह एक कोड (captcha code) होता है! इसे दर्ज करें!
  7. फिर “सबमिट” बटन पर क्लिक करें!
  8. अब आप पीडीऍफ़ प्रारूप फॉर्मेट में जमाबंदी नकल प्राप्त कर सकते हैं!

निष्कर्ष

इस तरह कुछ आसान चरणों में ही आप जमाबंदी नकल प्राप्त कर सकते हैं वस्तुत इस तरह की योजनाओं के द्वारा जनता तक सुविधा के साथ साथ तकनीक का सही उपयोग भी अपनी पहुँच बनाने में सफल हुआ है, जहाँ एक ओर ऑनलाइन जमाबंदी के द्वारा अब पटवारियों के दफ्तरों में लगने वाली लाइन काफी कम हो गयी है वहीँ, मैन्युअल रिकार्ड्स की जगह ऑनलाइन रिकार्ड्स उपलब्ध होने से कार्य और भी सरल और सुलभ हो गया है! हरियाणा भू राजस्व विभाग के इस क्रांतिकारी कदम से अन्य राज्यों को भी अपने उपक्रम में इस तरह की योजनाओं को स्थान देना चाहिए, और साथ ही इस प्रकार के पोर्टल्स के माध्यम से राजस्व से सम्बंधित कठिनाइयों के निवारण के लिए भी कार्य करते हुए, जनमानस के लिए इसे सरल और सुलभ बनाना चाहिए! ऑनलाइन जमाबंदी (online jamabandi) ने लोगों की अपने भूमि रिकार्ड्स के रख रखाव की सुरक्षा के प्रति आश्वस्त किया ही है साथ ही इसके सरल हो जाने से अब भू अधिकारों के प्रति भी जागरूकता बढ़ी है! यह कहा जा सकता है की अब आपकी जमाबंदी नकल सिर्फ आपसे एक क्लिक दूर है!

नमस्कार दोस्तों, मैं Pandit Shivam, HREX का Author हूँ. मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे I

2 Comments

2 Comments

  1. Resultnic.in2019

    March 17, 2019 at 4:09 pm

    I dont usually post on many Blogs, still I simply must give you thanks keep up the astonishing work. Ok unfortunately its time to access school.

  2. Nichol Lenzi

    March 21, 2019 at 12:52 pm

    Aw, this was a really nice post. In idea I would like to put in writing like this additionally ? taking time and actual effort to make a very good article? but what can I say? I procrastinate alot and by no means seem to get something done.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

नमस्कार दोस्तों, मैं Pandit Shivam, HREX का Author हूँ. मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे I -SHIVAM SHARMA