Wednesday, October 17, 2018
Home Blog

{HREX}हरियाणा सरकार द्वारा बेरोजगार युवाओं के लिए सुनहरा अवसर! जानिये क्या है रोजगार एक्सचेंज?

0

आज के समय में बेरोजगारी देश की एक बड़ी समस्या के रूप में सामने आयी है, आज देश में युवाओं की संख्या सबसे अधिक है और उनमे भी बेरोजगार युवाओं की संख्या सबसे ज्यादा है! कभी शिक्षा का आभाव, कभी रोजगार चयन की असुविधा, कभी अधिक लोगों के बीच रोजगारों की कम संख्या आदि आदि समस्याएं युवाओं के लिए एक चिंता का विषय बन जाती है!

लेकिन, देश की सरकारें इस ओर ध्यान नहीं दे रही हैं, ऐसा बिलकुल भी नहीं है! हरियाणा सरकार ने प्रदेश के युवाओं के लिए ऐसी ही एक योजना का शुभारम्भ किया है, जहाँ युवाओं को अपनी शिक्षा, योग्यता और क्षमता के अनुरूप रोजगार प्राप्त करने में अब कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा! हरियाणा सरकार ने रोजगार मुहैय्या कराने के उद्देश्य से “Haryana Rojgar exchange” के ऑनलाइन (online haryana employment exchange) hrex पोर्टल का शुभारम्भ किया है! यह युवाओं को आसानी से rojgar उपलब्ध कराने में मददगार साबित होगा, साथ ही इसके माध्यम से युवा अपनी योग्यता और क्षमता के अनुरुप अपनी मनचाही नौकरी भी पा सकेंगे! इसके माध्यम से ना केवल बेरोजगार युवाओं को एक प्लेटफार्म मिल रहा है बल्कि नियोजक भी एक ही स्थान से योग्य युवा का चयन कर पायेंगे! वहीँ हरियाणा सरकार ने बेरोजगारी भत्ता देने के भी पुख्ता इन्तेजाम इसके तहत किये हैं!

तो आइये जानते हैं-

 

क्या है हरियाणा रोजगार एक्सचेंज (hrex)?

Haryana Employment Exchange” हरियाणा सरकार के रोजगार मंत्रालय द्वारा युवा उम्मीदवारों को रोजगार प्रदान करने, बेरोजगारी भत्ता प्रदान करने का ऑनलाइन पोर्टल है! इसके माध्यम से हरियाणा के बेरोजगार युवा अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं और साथ ही अपनी योग्यता, कौशल और क्षमता के अनुरूप रोजगार प्राप्त कर सकते हैं! रोजगार प्राप्त करने के लिए इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से युवाओं के लिए दी गयीं विविध योजनाओं के फॉर्म भरने होते हैं जिसके द्वारा बेरोजगार युवाओं का रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन करवाया जाता है! hrex के माध्यम से हरियाणा में रोजगार से सम्बंधित किसी भी विषय की जानकारी प्राप्त की जा सकती है, साथ ही इस पोर्टल के माध्यम से नए नियोजक भी रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं!

नियोजकों की सूची इस पोर्टल पर उपलब्ध करवाई जाती है! बेरोजगार उम्मीदवार इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से स्वयम को रजिस्टर करवाने के साथ साथ अपनी मनचाही नौकरी या रोजगार प्राप्त कर सकता है!

हरियाणा रोजगार एक्सचेंज (employment exchange) में कैसे करें रजिस्ट्रेशन?

उम्मीदवार रजिस्ट्रेशन के लिए सबसे पहले http://hrex.gov.in/ पर जाएँ, जहाँ आपको ऐसा होम पेज उपलब्ध होगा! यहाँ candidate registration पर क्लिक करें!

  या फिर आप फ्रेश जॉब सीकर्स रजिस्ट्रेशन पर जाकर भी इस फॉर्म को खोल सकते हैं!

यहाँ आपको ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरने से पहले कृपया निर्देशों का पालन करना होगा!

इन निर्देशों को बहुत ध्यान से पढ़ें उसके बाद ही continue रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करें इसके बाद ही आपको यह फॉर्म भरना होगा!

सभी जानकारियां भरने के बाद आपको save/ next के बटन पर क्लिक करना होगा

इस तरह पांच पेजों के रजिस्ट्रेशन फॉर्म को भरने के लिए लगने वाली जानकारियों को आपको प्रदान करना होगा, इसके लिए ध्यान से वेबसाइट में दिए गए निर्देशों को पहले पढ़ लें उसके बाद ही आगे बढें!

 

क्या है सक्षम युवा योजना?

हरियाणा सरकार ने प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के हरियाणा सक्षम योजना २०१८ (Haryana saksham yojna 2018) की शुरुआत की है, इस योजना का मूल उद्देश्य उन युवाओं के रोजगार की पूर्ती करना है जो नौकरी की तलाश कर रहे हैं, प्रदेश में लगातार बढती बेरोजगारी को मद्देनजर रखते हुए हरियाणा सरकार ने यह कदम उठाया, saksham yojna 2018 का उद्देश्य युवाओं को सक्षम बनाना है एवं उनकी रोजगार कि जरुरत को पूरा करना है! प्रदेश के मुख्यमंत्री का कहना है कि हरियाणा saksham yojna 2018 के माध्यम से प्रदेश के बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने की शुरुआत की गयी है! लेकिन इस योजना का लाभ ग्रेजुएट युवा ही प्राप्त कर सकते हैं! प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही इस योजना के अंतर्गत अबतक लगभग 100 या इससे अधिक युवा एवं युवतियों को रोजगार मुहैय्या कराया जा चुका है!

Saksham Haryana yojna 2018 के अंतर्गत युवाओं को 100 घंटे का काम मुहैय्या कराया जाएगा और इसके लिए उन्हें ९००० रुपये तक की राशि प्रदान की जाएगी! यह राशि लाभार्थियों के बैंक खाते में सीधे पहुंचाई जायेगी! रजिस्ट्रेशन के बाद आवेदक की पात्रता की पुष्टि प्रदेश सरकार द्वारा की जाएगी! गलत जानकारी उपलब्ध कराने पर आवेदन रिजेक्ट भी किया जा सकता है!

इस योजना का लाभ उठाने के लिए उम्मीदवार का हरियाणा का मूल निवासी होना आवश्यक है, एवं  हरियाणा रोजगार एक्सचेंज में रजिस्टर होना जरुरी है! Saksham yojna का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी का ग्रेजुएट या पोस्ट ग्रेजुएट होना आवश्यक है! केवल वे युवा ही इसमें आवेदन कर सकते हैं जिनकी उम्र २१ से ३५ के बीच हो, साथ ही पारिवारिक आय 3 लाख रुपये से कम होनी चाहिए! इस योजना का लाभ एक लाभार्थी को केवल 3 वर्षों तक ही प्रदान किया जाएगा! 

 

सक्षम योजना में उम्मीदवार कैसे करें रजिस्ट्रेशन?

अगर आप हरियाणा सरकार द्वारा चलाई जा रही haryana saksham yojna 2018 का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए कुछ बहुत ही आसन निर्देशों का पालन करें-
 

  • Hariyana saksham yojna 2018 का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको सबसे पहले हरियाणा प्रदेश के रोजगार विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट https://hreyahs.gov.in/preregistration.org पर जाना होगा,
  • इस पेज के ओपन होने पर आपको यहाँ QUALITIFICATION TYPE सेलेक्ट करना होगा!
  • QUALITIFICATION TYPE में आपको दो विकल्प मिलते हैं “ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट”! इसमें आपको अपनी योग्यता का चुनाव करना है!
  • जैसे ही आप अपनी योग्यता का चुनाव करेंगे आपके स्क्रीन पर एक फॉर्म ओपन हो जायेगा!
  • इसमें जो भी जानकारी मांगी गयी है, उसे आपको सही सही भरना होगा और उन सभी जानकारियों को भरकर नीचे दिए हुए “सबमिट” बटन पर क्लिक करना होगा!
  • सबमिट होने के बाद, आपका यह फॉर्म जमा हो जायेगा और इसके बाद rojgar विभाग द्वारा आपकी पात्रता की जांच की जायेगी, अगर आप उनके द्वारा चयनित होते हैं तो आपको saksham yojna 2018 के अंतर्गत “बेरोजगारी भत्ता” प्राप्त होना शुरू हो जायेगा!

नियोजक कैसे करें रजिस्ट्रेशन?

नियोजकों को Hariyana Employment Exchange में रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए निम्न छोटे छोटे स्टेप्स का पालन करना है, जिसके साथ ही आप hariyana rojgar एक्सचेंज की “employer list” में शामिल हो जायेंगे!

सबसे पहले आपको hariyana rojgar exchange की ऑफिसियल वेबसाइट hrex.gov.in पर जाना होगा!

  • इसके बाद आपको होम पेज के राईट साइड में “Fresh employer’s registration” पर क्लिक करना होगा!

 

  • इस पर क्लिक करने के बाद आपको एक नया पेज खुला हुआ मिलेगा जो कि एक फॉर्म के रूप में होगा, यही फ्रेश employer के रजिस्ट्रेशन का फॉर्म है! इसे पूरी सावधानी से एवं ध्यानपूर्वक आपको भरना होगा! तथा सभी सही सही डिटेल्स आपको इसमें डालनी होगीं!
  • इस फॉर्म को भरने के बाद आपको नीचे दिए गए “Register” बटन पर क्लिक करना होगा, जिसके साथ ही आप नियोजक के रूप में register हो जायेंगे!

 

निष्कर्ष

haryana rojgar exchange हरियाणा सरकार के रोजगार विभाग का online Employment Exchange पोर्टल है तथा, इस पोर्टल के द्वारा रोजगार सम्बन्धी किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए आप इस पोर्टल पर आ सकते हैं, साथ ही इसके माध्यम से आप अगर अपना रजिस्ट्रेशन rojgar प्राप्त करने लिए करवाना चाहते हैं तो भी यह पोर्टल आपके लिए कार्य करेगा, वहीँ इसके माध्यम से आप सक्षम युवा योजना २०१८ ( Haryana Saksham Yojna 2018) का भी लाभ उठा सकते हैं! इस पोर्टल के माध्यम से नियोजक भी अपना रजिस्ट्रेशन haryana rojgar विभाग में कर सकते हैं!

 

आवश्यक लिंक

निम्न आवश्यक लिंक्स पर जाकर आप पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं एवं अपने पंजीकरण करवा सकते हैं!

जानिये क्या है Uttar Pradesh Bhumilekh( उत्तर प्रदेश भुमिलेख ऑनलाइन )?

0

अगर हमें कोई जमीन खरीदनी है, या अपनी जमीन के बारे में जानकारी हांसिल करनी है तो अब ये काम आसानी से घर बैठे हो जाता है. इसके लिए हमें सरकारी ऑफिस के चक्कर भी नहीं लगाने पड़ते. जी हाँ, उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य की सारी जमीन की जानकारी (Land record) ऑनलाइन कर दी है. अब आप कहीं से भी राज्य की जमीन (up bhulekh) से जुड़ी जानकारी पा सकते हैं. साथ ही जरुरी दस्तावेज भी प्राप्त कर सकते हैं. राज्य सरकार ने http://upbhulekh.gov.in/ वेबसाइट पेश है, जो हमारे बड़े काम की है. आज हम आपको इसके बारे में विस्तार से बताएँगे.

क्या है यूपीभुलेख और ये कैसे काम करता है?

यह राजस्व परिषद् विभाग की सरकारी वेबसाइट है, जिसमें राज्य की जमीन से जुड़ी सारी जानकारी और दस्तावेज मौजूद हैं. भूलेख का मतलब होता है भूमि से सम्बन्धित जानकारी लिखित रूप में। इस सरकारी वेबसाइट यूपीभुलेख की मदद से हम खसरा,खतौनी, राजस्व ग्राम खतौनी का कोड, भूखंड/गाटे का यूनिक कोड, भूखंड/गाटे के वाद ग्रस्त होने की स्थिति, खतौनी (अधिकार अभिलेख) की नकल, खतौनी (khatoni) अंश – निर्धारण की नकल लिखित रूप में देख सकते हैं. यूपी भुलेख का सीधा सा मतलब ये है कि इस उत्तर प्रदेश के लोगों को उनकी भूमि के बारे में जानकारी ऑनलाइन देना है.

यूपी भुलेख से लोगों को फायदे

  • इस सरकारी वेबसाइट के जरिये आप अपना खसरा (Khasra) नंबर या जमाबंदी नंबर डालकर अपना नक्शा पता कर सकते हैं साथ ही उसे डाउनलोड भी कर सकते हैं.
  • राज्य की जमीन (bhu lekh uttar pradesh) का डेटा घर बैठे देखा जा सकता है.
  • भुलेख वेबसाइट (bhulekh.up.nic.in up) के आ जाने से अब लोगों को पटवारी या कचहरी के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे.
  • भुलेख की मदद से आपकी कीमती समय की बचत होगी.

 

उत्तर प्रदेश में जमीन से जुड़ी जानकारी प्राप्त करने के लिए इन चरणों का पालन करें:

 

सबसे पहले आपको अपने कंप्यूटर पर http://upbhulekh.gov.in/ ओपन करें.

आपके सामने इस तरह का एक पेज ओपन हो जायेगा.

इस पेज पर कई सारे विकल्प मौजूद हैं, आपको जो भी जानकारी चाहिए उस विकल्प पर क्लिक करें.

अगर हमें खतौनी (online khatauni) की नकल देखनी है तो हमें “खतौनी (अधिकार अभिलेख ) की नकल देखें” पर क्लिक करना होगा.

इसके बाद इस तरह का पेज ओपन होगा, इसमें जो उपर अंग्रजी के अक्षर लिखें हुए हैं उन्हें नीचे वाले बॉक्स में लिखना है और “सबमिट” का बटन दबाना है.

इसके बाद आपके सामने ऐसा पेज खुल जायेगा. इसमें तीन कोलम बने हुए हैं. एक में उत्तरप्रदेश के जिले या जनपद के नाम है. जैसे ही आप किसी भी जनपद पर क्लिक करेंगे, उसके बगल वाले कोलम में उस जनपद या जिले की सारी तहसील के नाम आ जायेंगे.

 

इसी तरह जैसे ही हम तहसील पर क्लिक करंगे, वैसे ही उसके बगल वाले कोलम पर उसके अंतर्गत आने वाले ग्राम के नाम आ जाएंगे.

अब आपको जिस ग्राम की जमीन (up land record) के बारे में जानकारी चाहिए हो तो उस ग्राम में क्लिक करें. जैसे ही आप किसी भी ग्राम में क्लिक करेंगे, वैसे ही आपके सामने एक दूसरा पेज खुलेगा.

 

यहाँ उपर की तरफ तीन विकल दिए गए हैं, “खसरा (khasra khatauni up)/गाटा संख्या द्वारा खोजें, खाता संख्या द्वारा खोजे, खातेदार के नाम द्वारा खोजे” जैसे आपको खोजना है वैसे सेलेक्ट कर लें. फिर नीचे जो जानकारी पूंछी जा रही है, उसे भरें, इसके बाद “खोजे” बटन पर क्लिक करें. जानकारी आपके सामने आ जाएगी.

 

भू नक्शा की नकल और जानकारी के लिए:-

अगर आपको कोई जमीन खरीदना है या अपनी जमीन के आसपास किसकी जमीन है ये जानना है तो निम्न तरीके को फ़ॉलो करें.

 

सरकार ने भू नक्शा (bhu lekh naksha up) उपलब्ध करवाने के लिए कई डेमो प्रोटेल पेश किये हैं, जैसे:-

 

तीनों में से किसी को भी ओपन करेंगे, तो एक जैसा ही पेज खुलेगा.

 

यहाँ से आप दो तरह से जमीन का नक्शा (khasra khatauni up) देख सकते हैं.

  • खसरा नंबर से
  • फॉर्म में जानकारी भरकर

खसरा नंबर से:- पेज के उपर एक विकल्प दिया गया है, “खसरा नंबर” यहाँ आपको खसरा (online khatauni) नंबर डालना है और इंटर का बटन दबाना है, इसके बाद जमीन का नक्शा आपके सामने होगा, यहाँ से आप नक्शा डाउनलोड करने प्रिंटआउट भी निकलवा सकते हैं.

फॉर्म में जानकारी भरकर:- पेज के साइड में एक फॉर्म दिया गया है, जिसमें जिला, तहसील, ग्राम भरना है. जैसे ही आप जानकारी भरेंगे आपके सामने नक्शा आ जायेगा.

 

इसके बाद आपको जिस भी प्लाट के बारे में जानकारी चाहिए उस प्लाट में क्लिक करें. जानकारी आपके सामने होगी.

इस प्रोटेल में एक खास बात ये है कि आपको इससे पता चल जायेगा कि कौन सी जमीन सरकारी है और कहाँ तलब हैं आदि.

 

प्रोटेल के साइड में सात तरह के रंग दिखाई दे रहे हैं, इन रंगों का मतलब जानने के लिए उपर की तरह एक विकल्प दिखाई देगा “Show land type details” इस पर क्लिक करने से आपको रंगों के बारे में जानकारी मिल जाएगी.

 

जिस प्लाट का नक्शा देखना है या डाउनलोड करना है तो आप उस प्लाट पर क्लिक करें, पेज के साइड में आपको उस प्लाट की जानकारी मिल जाएगी, उसी के नीचे “Map रिपोर्ट” नाम का विकल्प मिलेगा, उसमें क्लिक करने से आपके सामने उस प्लाट का नक्शा (bhulekh up) आ जायेगा.

 

प्लाट का नक्शा यहाँ से डाउनलोड भी कर सकते हैं.

जिस जमीन या प्लाट का नक्शा आप खोज रहे थे वो अब आपके सामने हैं.

भुलेख के लिए हेल्पलाइन:-

राजस्व परिषद, उत्तर प्रदेश

लखनऊ, उत्तर प्रदेश Email:- borlko@nic.in

फोन:- 0522-2217155

दोस्तों, डिजिटल इन्डिया का जमाना हैं, धीरे-धीरे सबकुछ डिजिटल होने जा रहा है, आप भी डिजिटल हो जाइये और आसानी से घर बैठे खसरा नंबर, भूलेख नक्शा, खतौनी का प्रिंट आउट निकलवाएं.

 

 

जानिये क्या है MP Bhulekh ( मध्य प्रदेश भूमि अभिलेख ऑनलाइन )?

0

जमीन के बारे अगर कोई भी जानकारी चाहिए होतो या कोई कागजात की जरूरत होतो हमें पटवारी, कचहरी के चक्कर काटने पड़ते हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं है. हमारा देश अब ‘डिजिटल इंडिया’ बनने वाला है. मध्य प्रदेश सरकार ने ‘डिजिटल इंडिया’ की तरफ एक कदम बढ़ाते हुए जमीन की सारी जानकारी ऑनलाइन कर दी है. अब अगर आपको कोई भी जमीन से जुड़ी जानकारी या कागजात चाहिए होतो आपको कचहरी या पटवारी के चक्कर काटने के जरूरत नहीं पड़ेगी. मध्य प्रदेश सरकार ने http://mpbhulekh.gov.in/ नाम का एक वेबसाइट पेश की है. आज हम आपको एमपी भुलेख (bhulekh mp)के बारे में विस्तार के बताएँगे.

क्या है एमपी-भुलेख?

एमपी भुलेख  (bhulekh mp) एक सरकारी वेबसाइट है, जिसमें जमीन से जुड़ी सारी जानकारी उपलब्ध है. आप इस वेबसाइट के जरिये जमीन से संबंधित कोई भी कागजात, जैसे खतरा, खतौनी, नक्शा (bhu naksha mp), जमाबंदी, खसरा नंबर आदि सब आसानी से मिल जाएगी.

इसके लिए आपको घर के पास के जनसुविधा केंद्र में जाकर कुछ पैसे देकर जमीन से जुड़ी जानकारी निकलवा सकते हैं. या फिर आप खुद भी अपने घर में कंप्यूटर या स्मार्टफोन के जरिये खसरा-खतौनी, नक्शा निकाल सकते हैं. इस वेबसाइट में आपको अपनी जानकारी डालनी होगी. जैसे आपका नाम, अपने गांव का नाम, तहसील एवं जिला का नाम इत्यादि. इसके बाद आपको जानकारी मिल जायेगी.

एमपी भुलेख का फायदा:-

  • आपको सरकारी भूलेख कार्यालय में जाने की जरूरत नहीं होगी.
  • आप घर पर ही अपने खेत, खसरा, खतौनी, नक्शा (bhu naksha mp) आदि के रिकॉर्ड देख सकते हैं और नकल प्राप्त कर सकते है.
  • इसके जरिए भ्रष्टाचार खत्म होगा.
  • इससे हमारे समय और पैसे दोनों की बजत होगी.

इस वेबसाइट से हम धोखा खाने से भी बच सकते हैं, जी हाँ, अगर हमें कोई जमीन खरीदनी है. तो हम जमीन के बारे में भुमिलेख (मप भूअभिलेख) वेबसाइट में जाकर देख सही जानकारी देख सकते हैं.

मध्य प्रदेश में अपनी जमीन के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए, इन चरणों का पालन करें: 

  • सबसे पहले आप एमपी भुलेख वेबसाइट http://mpbhulekh.gov.in/ को अपने कंप्यूटर पर खोलना होगा.

    Mp Bhulekh
    Mp Bhulekh
  • इसके बाद आपको निशुल्क सेवा (Free service) पर क्लिक करना होगा.

    Mp Bhulekh
    Mp Bhulekh

 

जैसे ही आप निशुल्क सेवा पर क्लिक करेंगे, आपके सामने एक पेज खुलकर आएगा. इस पेज पर कई सारे विकल्प दिखाई देंगे, जैसे:- खसरा / बी 1 / नक्शा प्रतिलिपि , आवेदन पत्र,  डाउनलोड , गाँव की सूची, फसल का रिपोर्ट, भूमि वर्गीकरण रिपोर्ट, शासकीय खसरा रिपोर्ट,  क्षेत्र सम्भ्न्धी रिपोर्ट, तहसील वार भूमि उपयोग , भू नक्शा (mp bhu naksha) , आधार कार्ड – लिंकिंग रिपोर्ट , रोस्टर डाउनलोड  और डाटा परिमार्जन रिपोर्ट.

इन विकल्पों में से जो भी आपको देखना है उसमें क्लिक करें.

जैसे हमें खसरा/बी 1/ नक्शा प्रतिलिपि देखन है तो हम इस विकल्प पर क्लिक करेंगे.

  • इसके बाद आपके सामने एक पेज आएगा.

    Mp Bhulekh
    Mp Bhulekh

इसमें आपको सब कुछ भरना है, अंत में दो और विकल्प दिखाई दे रहे हैं “भू स्वामी और खसरा संख्या” इसमें आपको वही विकल्प चुनना है, जो आपको देखना है. इसके बाद जो संख्या दिख रही है उसे नीचे वाले बॉक्स में भरना है, और फिर ‘विवरण देखें’ बटन पर क्लिक करना है. फिर खसरा, बी 1, नक्शा वाले विकल्प पर क्लिक करके प्रिंट आउट नकल निकाल सकते है.

मध्य प्रदेश भू अभिलेख की जानकारी:-

एमपी भुलेख के आलावा अन्य सरकारी माध्यमों से भी खसरा / खतौनी / नक्शा आदि पा सकते हैं.

  • अगर आपको भू अभिलेख की जानकारी चाहिए तो सबसे पहले आप सरकारी वेबसाइट http://landrecords.mp.gov.in/newweb/index.html# पर क्लिक करें.

    Mp Bhulekh
    Mp Bhulekh
  • जिस जिले की जमीन के बारे आपको जानकारी चाहिए उस जिले पर क्लिक करें.

इसके बाद तहसील को चुनकर “OK” बटन कर क्लिक करें.

  • अब आपके सामने उन गाँव की लिस्ट आ जाएगी, जो उस तहसील के अंदर आते होंगे जो आपने पहले चुना था.
  • इसके बाद आपको जिस गाँव की जमीन के बारे में जानकारी चाहिए उस गाँव के सामने वाले बटन “चुने” पर क्लिक करें.

  जैसे ही आप क्लिक करेंगे, आपके सामने एक पेज खुलेगा, जिसमें नीचे की तरफ तीन बटन लगे हुए हैं. “खसरा/नक्शा/खतौनी, खसरा (नाम अनुसार), अन्य रिपोर्ट” अब आपको जो भी जानकारी चाहिए उस बटन पर क्लिक करें. जानकारी आपके सामने होगी.

 

भू अभिलेख (mp land record) खसरा खतौनी किश्तबन्दी नक्शा प्रिंटआउट कैसे प्राप्त करें:-

    सबसे पहले आप इस वेबसाइट (bhu online) http://www.mpbhuabhilekh.nic.in/bhunaksha/ पर क्लिक करें.

    इसके बाद आपको पेज पर  जिला, तहसील, आर आई (RI), हल्का (Halka) और गाँव का नाम चुनना होगा. जैसे जैसे आप फॉर्म को भरेंगे वैसे-वैसे वहां का नक्शा (land record mp) आपके सामने आता जायेगा.

 जब आपके सामने आपके गाँव का नक्शा आ जायेगा, आप जिस प्लाट के बारे में जाना चाहते हैं उस प्लाट पर क्लिक कर दें. आपके सामने उसकी जानकारी भी आ जाएगी. जैसे ही खसरा नंबर, धारक का नाम, प्रकार, भूमि क्षेत्रफल आदि शामिल होगा.

इसके साथ ही आपको खसरा, किश्तबन्दी, और नक्शा का प्रिंट आउट लेने का विकल्प दिखाई देगा. वहां से आप प्रिंट आउट निकाल सकते हैं.

सहायता के लिए हेल्पलाइन नंबर

आयुक्त भू अभिलेख एवं बन्दोबस्त, मध्यप्रदेश, मोती महल, ग्वालियर (म.प्र.), पिन:- 474007

0751-2441200, Fax:- 2441202.

दोस्तों, हमें भी समय के साथ बदलना होगा, बात-बात पर हम सरकारी दफ्तर के चक्कर लगाने लगते हैं. जिससे सरकारी कर्मचारी और अपना भी समय बर्बाद होता है. अगर हम थोड़ा जागरूक हुए तो हम आधी से ज्यादा जानकारी घर बैठे ऑनलाइन (bhu online) पा सकते हैं. देश को डिजिटल बनाने के लिए पहले आपको डिजिटल बनना होगा.    

ऊपर दिये गए सभी तरीको से मध्य प्रदेश ऑनलाइन खसरा खतौनी भू अभिलेख की जानकारी आसानी से ऑनलाइन प्राप्त कर सकते है. यदि आपको फिर भी कोई समस्या आ रही है. या आपके मन मे कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट मे लिख सकते है. हम बहुत जल्द आपकी सहता करेंगे.

 

 

{UP Ration Card 2018 }उत्तर प्रदेश में राशन कार्ड 2018 के लिए नयी सूची जारी! अब ऑनलाइन खोजें बीपीएल, एपीएल राशन कार्ड!

0

क्या है राशन कार्ड (ration card) ?


भारत के गरीब लोगों के लिए राशन कार्ड महत्वपूर्ण दस्तावेज है । राशन कार्ड के माध्यम से भारत के गरीब नागरिक सरकारी योजना का लाभ ले सकते हैं। यदि किसी नागरिक के पास राशन कार्ड है तो वह रियायती दर पर राशन की आस-पास की दुकानों के माध्यम से राशन खरीद सकता है।


राशन कार्ड( rashan card) या (ration card) भारत सरकार द्वारा जारी किए जाने वाले भोजन, ईंधन, या अन्य वस्तुओं के राशन के लिए धारक को दिया जाने वाला एक आधिकारिक दस्तावेज हैं । यह मुख्य रूप से तब इस्तेमाल किया जाता है जब सब्सिडी प्राप्त खाद्य पदार्थों (गेहूं, चावल, चीनी) और मिट्टी का तेल खरीदा जाता है । यह कार्ड द्वितीय विश्व युद्ध के बाद से इस्तेमाल किया जा रहा है और इसका उपयोग 21 वीं सदी में भी जारी है ।


राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत, भारत में सभी राज्य सरकारों को उन परिवारों की पहचान करनी है जो सार्वजनिक वितरण प्रणाली से रियायती खाद्य अनाज क्रय करने के पात्र हैं और उन्हें राशन कार्ड प्रदान करते हैं.

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियमित करने से पहले, तीन प्रकार के rashan card थे!

गरीबी रेखा से ऊपर (एपीएल) राशन कार्ड जो गरीबी रेखा से ऊपर रहने वाले परिवारों को जारी किए गए थे (जैसा कि योजना आयोग द्वारा अनुमानित था)। इन परिवारों को १५ किलोग्राम खाद्यान अनाज (उपलब्धता के आधार पर) प्राप्त हुआ.

गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) rashan card जो गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों को जारी किए गए थे । इन परिवारों को 25-35 किलोग्राम खाद्यान  अनाज मिला ।

गरीब से गरीब परिवार को अंत्योदय राशन कार्ड जारी किए गए थे, इन परिवारों को ३५ किलोग्राम खाद्यान्न अनाज मिला ।

राशन कार्ड (rashan card) के उपयोग!


राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत २ प्रकार के राशन कार्ड भारत में उपलब्ध कराये जा रहे हैं, निम्न कार्ड एवं उनके उपयोग इस प्रकार हैं-
प्राथमिकता वाले राशन कार्ड
-प्राथमिकता के लिए राशन कार्ड उन परिवारों को जारी किए जाते हैं जो अपने राज्य सरकार द्वारा निर्धारित पात्रता मानदंड पूरा करते हैं । प्रत्येक प्राथमिकता वाले घर में प्रति सदस्य 5 किलोग्राम खाद्यान्न अनाज का हकदार होता है ।

अंत्योदय राशन कार्ड गरीब से गरीब व्यक्ति को प्रदान किये गए हैं! प्रत्येक अन्त्योदय गृहस्थी को ३५ किलोग्राम खाद्यान्न अनाज का हकदार है ।

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियमित करने से पहले, तीन प्रकार के rashan card थे! गरीबी रेखा से ऊपर (एपीएल) राशन कार्ड जो गरीबी रेखा से ऊपर रहने वाले परिवारों को जारी किए गए थे (जैसा कि योजना आयोग द्वारा अनुमानित था)। इन परिवारों को १५ किलोग्राम खाद्यान अनाज (उपलब्धता के आधार पर) प्राप्त हुआ.

उत्तर प्रदेश राशन कार्ड २०१८ (up ration card 2018)

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने जिलेवार राशन कार्ड सूची डाउनलोड के लिए जारी कर दी है, जिन अभ्यर्थियों ने नए राशन कार्ड के लिए आवेदन किया है वे सब अब अपने नाम nfca (राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम) द्वारा उपलब्ध कराई गयी rashan card 2018 सूची में चेक कर सकते हैं! जिन अभ्यर्थियों का राशन कार्ड सूची २०१८ में पंजीकरण नहीं है वे fcs.up.nic.in, Aapurti पोर्टल के माध्यम से नए राशन कार्ड (ration card 2018) के लिए आवेदन कर सकते हैं!

जिले और टाउन के अनुसार उत्तरप्रदेश UP Ration Card 2018 की नयी सूची

 

अब आप आसानी से rashan card की आधिकारिक सूची जिले और शहर के अनुसार देख सकते हैं! सभी आवश्यक चरण नीचे दिए जा रहे हैं-

  • सबसे पहले खाद्य विभाग की वेबसाइट http://fcs.up.nic.in पर जाए
  • फिर एन ऍफ़ एस ए के अंतर्गत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम की पात्रता सूची पर क्लिक करें!

    up rashan card
    up rashan card
  • इसके अंतर्गत आपको उत्तरप्रदेश राज्य के सभी जिले की ( up ration card) की सूची शो होगी
    up rashan card
    up rashan card

     

 

  • उत्तर प्रदेश राशन कार्ड (Up Ration card list) लिस्ट के लिए आपको अपने जिले पर क्लिक करना होगा!
  • जिले पर क्लिक करने के बाद एक और पेज खुल जाएगा, इस पृष्ठ में आप अपने जिले के कस्बों तहसीलों आदि की लिस्ट देख सकते हैं!

यूपी राशन कार्ड 2018 (ONLINE RATION CARD) की लिस्ट में नाम खोजने के चरण-

जिन सभी अभ्यर्थियों ने rashan card 2018 के लिए आवेदन किया है वे सूची में अपना नाम खोज सकते हैं! सूची में नाम की जांच करने के लिए उम्मीदवारों को इन अलग अलग चरणों का पालन करना होगा! सबसे पहले पेज के लिंक पर जाएँ और आपूर्ति की आधिकारिक वेबसाइट पर click करें- fcs.up.nic.in

  • वेबसाइट के होम पेज पर, “NFSA की पात्रता सूची” पर क्लिक करें!
  • यूपी राशन कार्ड (UP ration card) की सूची का सीधा लिंक २०१८ इस पृष्ठ के महत्वपूर्ण लिंक अनुभाग में भी उपलब्ध है।
  • यूपी राशन कार्ड सूची 2018 पर क्लिक करें, संपूर्ण जनपद वार राशन कार्ड सूची आप यहां देखेंगे ।
  • परीक्षार्थी अपने अपने जिले को खोजते हैं, यहां अपने शहर, राशन कार्ड का नंबर, और दुकानदार का नाम दिखेगा ।
  • अब आप राशन कार्ड में अपना नाम सफलतापूर्वक चेक कर सकते हैं ।
  • उम्मीदवार भविष्य में संदर्भ के लिए २०१८ की राशन कार्ड सूची का प्रिंटआउट ले सकते हैं.

 

नए राशन कार्ड के लिए दस्तावेज सूची २०१८:

यूपी राशन कार्ड २०१८ (UP RATION CARD 2018 ) KA आवेदन करने के लिए नीचे दिए गए दस्तावेजों की सूची:

1-आधार कार्ड

2-पैन कार्ड

3-बैंक पासबुक

4-हाल ही में फोटोग्राफ (पासपोर्ट साइज)

5-पिछले बिजली के बिल

6-जाति प्रमाण पत्र

7-गैस कनेक्शन

8-आय प्रमाण पत्र

जैसा कि पहले कहा गया था कि नए RASHAN CARD के लिए बीपीएल और एपीएल श्रेणी के सभी अभ्यर्थी आवेदन कर सकते हैं । अगर उन नागरिकों ने राशन कार्ड के लिए आवेदन किया है जो पहले से ही नए राशन कार्ड की सूची में हैं उनके नाम की सूची यूपी के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध कराई गई है । यदि किसी प्रत्याशी के पास राशन कार्ड है तो वह विभिन्न राशन की दुकानों पर वितरकों के माध्यम से राशन ले सकता है ।

 

ऑनलाइन राशन कार्ड (online ration card) प्राप्त करने के लिए अलग अलग प्रकार के निर्देश ऊपर दिए गए हैं,

इसके अतिरिक्त और जानकारी के लिए और online ration card प्राप्त करने लिए इस वेबसाइट  पर जाएँ!

http://fcs.up.nic.in/

 

 

क्या है एसएसओ आईडी राजस्थान रजिस्ट्रेशलॉगिन ऑनलाइन और क्यों है यह ज़रूरी, जानें

0
ssoid

यह किसी को बताने की ज़रूरत नहीं है कि आज का युग पूरी तरह से डिजिटल युग बनता जा रहा है। आजकल कई सेवाएँ लोगों को ऑनलाइन मिलने लगी हैं। ऑनलाइन सेवाओं के मिलने की वजह से लोगों का काम आसान हो गया और और समय की भी बचत होती है। देशभर में कई सेवाएँ हैं जो ऑनलाइन शुरू हो चुकी हैं, जिसकी वजह से लोगों का काम काफ़ी आसान हो गया है। केंद्र की तरह राज्य भी धीरे-धीरे अपनी सेवाओं को ऑनलाइन कर रहा है। इसी क्रम में राजस्थान सरकार ने भी एक क्रांतिकारी क़दम बढ़ाया है।

बता दें राजस्थान में पहले ही बहुत सारी ऑनलाइन सेवाओं को शुरू किया जा चुका है। इसके अलावा यह राज्य कई अन्य ऑनलाइन सेवाएँ भी शुरू करने जा रहा है। हाल ही में राजस्थान सरकार की तरफ़ से एकल  साइन-ऑन पहचान (SSO ID) की नयी सुविधा शुरू की गयी है। हालाँकि अभी भी बहुत कम लोग इसके बारे में जानते हैं। अगर आप भी इसके बारे में कुछ नहीं जानते हैं तो आपको चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। आज हम आपको इस आर्टिकल के ज़रिए यह बताने जा रहे हैं कि SSO ID क्या होता है और इसका किस तरह से इस्तेमाल किया जाता है।

जानकारी के अनुसार SSO ID कई ऑनलाइन सेवाओं को पानें के लिए एक अनोखी और उपयोगी अवधारणा है। इसके लिए सबसे पहले उपयोगकर्ता को एक SSO ID बनाना होगा। कोई भी व्यक्ति SSO ID बनाने के बाद आसानी से राजस्थान सरकार द्वारा दी जानें वाली कई ऑनलाइन सेवाओं को उपयोग कर सकता है। बता दें इसके ज़रिए आप राजस्थान सरकार की लगभग सभी नौकरियों के लिए आसानी से आवेदन कर सकते हैं। आप तो जानते ही हैं कि आज के समय में किसी भी नौकरी के लिए आवेदन ऑनलाइन तरीक़े से ही किया जाता है।

पहले जब ऑनलाइन फ़ॉर्म भरने की सुविधा नहीं थी तो लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। पहले लोग फ़ॉर्म भरकर उसे पोस्ट करते थे। अगर फ़ॉर्म समय पर ना पहुँचा तो व्यक्ति की पूरी मेहनत बर्बाद हो जाती थी। लोगों को होने वाली इन्ही समस्याओं को ध्यान में रखकर धीरे-धीरे ऑनलाइन फ़ॉर्म भरने की व्यवस्था शुरू की गयी। इससे लोगों के समय में बचत तो होती ही है, साथ ही किसी तरह की गड़बड़ी की भी सम्भावना बहुत कम हो जाती है। इस वजह से आज के समय में हर कोई ऑनलाइन काम करने को ही बेहतर मानता है।

क्या है SSO ID:

आपकी जानकारी के लिए बता दें SSO ID उपयोगकर्ता के प्रमाणीकरण के लिए एक बहुत ही सरल तरीक़ा है। यह सभी प्रकार के ऑनलाइन कामों और सरकारी वेबसाइटों के लिए एक ही नाम और पासवर्ड का उपयोग करने की सुविधा देता है। दूसरे शब्दों में कहें तो Rajasthan SSO ID आपको लॉगिन करने के बहुत सारे विकल्प देता है। जैसे की आधार, जीमेल, फ़ेसबुक आदि। आज के समय में इस सेवा का इस्तेमाल देश के कई कॉलेजों, यूनिवर्सिटियों और प्राइवेट संस्थानों में किया जा रहा है। अब राजस्थान सरकार भी इसका इस्तेमाल कर रही है। इसमें एक ही वेबसाइट http://sso.rajasthan.gov.in पर सभी नौकरियों के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है।

 

Rajasthan single sign-on (SSO) ID is a way or option for user authentication, It provides facility of using one login credential such as name and password for various types of application and website. In other words, Rajasthan SSO ID allows user to use multiple applications. This service is used by many colleges, universities and now a day it is also used by the government. We can say Rajasthan SSO ID is very helpful tool for logging user activities with monitoring user account.

 

राजस्थान एसएसओ आईडी ऑनलाइन पंजीकरण के लिए पात्रता मानदंड:

(Eligibility Criteria for Rajasthan SSO Online Registration) 

  • अगर कोई व्यक्ति राजस्थान एसएसओ आईडी ऑनलाइन पंजीकरण करवाना चाहता है तो इसके लिए उसका राजस्थान का निवासी होना ज़रूरी है।
  • व्यक्ति का राजस्थान में कोई उद्योग होना चाहिए।
  • राजस्थान का सरकारी कर्मचारी। 

राजस्थान एसएसओ आईडी ऑनलाइन पंजीकरण के लिए इन चीज़ों की पड़ेगी ज़रूरत:

(Need these things for Rajasthan SSO ID registration)

 नीचे दिए गए तरीक़ों में से किसी एक से राजस्थान एसएसओ आईडी पंजीकरण किया जा सकता है।

  • भामाशाह आईडी का इस्तेमाल करके,
  • आधार आईडी का इस्तेमाल करके,
  • फ़ेसबुक आईडी का इस्तेमाल करके,
  • गूगल के इस्तेमाल से। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सुविधा का पूरी तरह से इस्तेमाल करने के लिए व्यक्ति को भामाशाह आईडी या आधार आईडी से ही पंजीकरण करना होगा। बता दें राजस्थान सरकार के कर्मचारी SIPF नम्बर और पासवर्ड का आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं। 

उद्योग के लिए इस तरह से करें पंजीकरण:

(Registration for industry) 

*- UAN (उद्योग आधार संख्या) का इस्तेमाल करके,

*- BRN (बिज़नेस रजिस्टर नम्बर) के इस्तेमाल से भी राजस्थान एसएसओ आईडी पंजीकरण किया जा सकता है। 

इस तरह से करें SSO एकल साइन-ऑन आईडी पंजीकरण: 

SSO खाते का ऑनलाइन पंजीकरण करने के लिए सबसे पहले अपने लैपटॉप पर sso.rajasthan.gov.in टाइप करें और क्लिक करें।

  • इसके बाद इस पेज पर जाएँ।
  • अगर आप राजस्थान के निवासी हैं तो आप पहले नागरिक टैब पर क्लिक करें।
  • यहाँ जानें के बाद आपको चार विकल्प दिखाई देंगे। इन्ही चार विकल्पों में से आपको पंजीयन की विधि विकल्प का चयन करना होगा।  उदाहरण के लिए भामाशाह आईडी, आधार आईडी, फ़ेसबुक, गूगल में से किसी एक पर क्लिक करें।
  • अगर आप अपने फ़ेसबुक अकाउंट से लॉगिन करते हैं तो वहाँ आपको सबसे पहले अपने फ़ेसबुक अकाउंट का पासवर्ड डालना होगा। उसके बाद फिर पंजीकरण (registration) पर क्लिक करना होगा।
  • अगर आप किसी उद्योग के मालिक हैं तो उद्योग टैब पर क्लिक करें और USN या BRN की सहायता से पंजीकरण को पूरा करें।
  • यदि आप राजस्थान के किसी सरकारी विभाग में कर्मचारी हैं तो सरकारी कर्मचारी टैब पर क्लिक करें और SIPF आईडी का इस्तेमाल करके अपना पंजीकरण करें। 

इन जगहों पर कर सकते हैं राजस्थान सिंगल साइन-ऑन (SSO) आईडी का इस्तेमाल:(Use of Rajasthan SSO ID) 

  • आपकी जानकारी के लिए बता दें RAJ SSO का इस्तेमाल करके आप लगभग सभी नौकरियों के लिए आसानी से आवेदन कर सकते है। आप आवेदन की स्थिति भी चेक कर सकते हैं।
  • SSO ID मदद आप कई तरह के बिलों का भुगतान और उनका सत्यापन आसानी से कर सकते हैं। इसकी सहायता से आप बिजली बिल, लैंडलाइन, मोबाइल और पानी के बिल को भर सकते हैं।
  • RAJ SSO की मदद से आप रोज़गार, नौकरी मेला और भर्ती पोर्टल आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • RAJ SSO की वेबसाइट पर आप कई अन्य तरह की ऑनलाइन सुविधाएँ जैसे ई-मित्र, आधार कार्ड, छत्रवृत्ति, व्यापार पंजीकरण, भामाशाह, शस्त्र लाइसेंस आदि के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके साथ ही आप इनके विवरण में भी बदलाव कर सकते हैं। 

जानिये क्या है उत्तरप्रदेश विकलांग पेंशन योजना 2018? कैसे करें ऑनलाइन आवेदन?

0

भारत सरकार ने विकलांगों के लिए जिन्हें भारत के प्रधानमंत्री दिव्यांग कहते हैं उनके लिए अनेकानेक योजनायें इस समय बना रही है, भारत में विकलांगों के कष्टों का निवारण करने के लिए भारत सरकार निरंतर योजनाबद्ध तरीके से कार्यरत है, इस क्रम में भारत के विभिन्न राज्यों में दिव्यांग बच्चों और सभी वर्ग के लोगों के लिए कई प्रकार के कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं जिससे उनकी स्थिति में सुधार हो और वे पेंशन संबंधी लाभ प्राप्त कर सकें! इसी क्रम में राज्यों के द्वारा भी विकलांग लोगों को पेंशन का पूर्ण लाभ देने के उद्देश्य से राज्य सरकारें भी काम कर रही हैं, जिससे विकलांगों के जीवन में सुधार किया जा सके और उन्हें सक्षम बनाया जा सके, इसी क्रम को आगे बढाते हुए इस दिशा में देश के सबसे बड़े प्रदेश उत्तर प्रदेश में विकलांगों के लिए पेंशन handicapped pension योजना शुरू की गयी है!

उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा उत्तरप्रदेश के विकलांग लोगों के लिए एक राहतकारी योजना का शुभारम्भ किया है, यह योजना विकलांगों को पेंशन के लाभार्थ शुरू की गयी है! पहले पेंशन योजना के तहत दी जाने वाली राशि ५०० रुपये थी, जिसे बढाकर उत्तरप्रदेश सरकार up gov ने १००० रुपये कर दिया है! वे लोग जो ४० प्रतिशत तक विकलांग हैं वे ही इस handicapped pension योजना का लाभ ले पायेंगे! वंचित और पीड़ित विकलांग लोगों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से यह योजना शुरू की गयी है! इसका सीधा उद्देश्य विकलांगों को मिलने वाली पेंशन में बढ़ोत्तरी करना है!

इसके पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने विकलांग पेंशन योजना 2016 में घोषणा की थी, राज्य सरकार ने एकीकृत पेंशन पोर्टल integrated pension portal sspy-up.gov.in के माध्यम से विकलांग पेंशन योजना ऑनलाइन पंजीकरण शुरू कर दिया है। इस योजना Viklang Pension Yojana uttar pradesh के तहत आवेदक जो शारीरिक रूप से विकलांग हैं, उसे सरकार द्वारा पेंशन के रूप में वित्तीय सहायता मिलेगी. 

विकलांग योजना handicapped pension के तहत शारीरिक रूप से अक्षम लोगों के लिए सरकार 500/-रूपये प्रतिमाह प्रदान करेगी। विकलांग पेंशन योजना यूपी ऑनलाइन आवेदन पत्र आधिकारिक वेबसाइट पर दिए गए हैं!

विकलांग पेंशन योजना handicapped pension के लिए आवेदन करने का तरीका :-

यदि आप विकलांग पेंशन योजना में आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए आप अपने गांव में अपने ग्राम पंचायत के सरपंच से जाकर मिले या फिर आप शहर में रहते हैं तो आप अपने जिला अधिकारी के पास जाकर इस योजना के बारे में बताएं। इस योजना का आवेदन पत्र और पूरी जानकारी अधिकारी की वेबसाइट ssyp-up.gov.in पर आपको मिल जाएगी। उत्तर प्रदेश विकलांग पेंशन योजना में ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी जानकारी आप नीचे देख सकते हैं।

विकलांग पेंशन योजना (handicapped pension) की पात्रता क्या है और कौन आवेदन कर सकता है :-

  • विकलांग को उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • विकलांग आवेदक की आयु 18 साल से 28 साल या उससे ज्यादा होनी चाहिए।
  • आवेदक को 40% विकलांग होना चाहिए, इसका मतलब है कि उनके शरीर में 40% से कम शारीरिक विकलांगता नहीं होना चाहिए।
  • अपंग आवेदक की पारिवारिक आय 1000 रुपये प्रतिमाह से अधिक नहीं होनी चाहिए!
  • ऐसे व्यक्ति जो पुराने पेंशन, विधवा पेंशन या कोई अन्य पेंशन जैसी कोई पूर्व पेंशन प्राप्त कर रहे हैं, वे इस पेंशन के लिए पात्र नहीं होंगे।
  • यदि विकलांग व्यक्ति (handicapped person) तीन पहिया या चार पहियाया किसी भी वाहन का मालिक है इस पेंशन के लिए योग्य नहीं है।
  • विकलांग लोगों को जो किसी भी सरकारी क्षेत्र में काम कर रहे हैं, इस पेंशन योजना के लाभ लेने के लिए पात्र नहीं हैं।

 

विकलांग पेंशन योजना के लिए आवेदन कैसे करे 

ग्रामीण क्षेत्रों में आवेदक ग्राम सभा और शहरी क्षेत्रों में आवेदक जिला विकलांग कल्याण अधिकारी को आवेदन कर सकता है।

सभी योग्य आवेदक आधिकारिक वेबसाइट http://sspy-up.gov.in के माध्यम से भी अपने आवेदन पत्र भर सकते हैं।

ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी जानकारी यहाँ दी गयी है नीचे दिए गए निर्देशों का ठीक से पालन करे और आवेदन पत्र में सही जानकारी भरें-

विकलंग पेंशन योजना यूपी ऑनलाइन पंजीकरण

 

  • STEP 1 – उम्मीदवारों को आधिकारिक वेबसाइट sspy-up.gov.in पर जाना होगा।

    UP Handicapped Pension
    UP Handicapped Pension
  • STEP 2 – उम्मीदवारों को होमपेज के “हैंडीकैप पेंशन” लिंक पर क्लिक करना होगा

    UP Handicapped Pension
    UP Handicapped Pension
  • STEP 3 – अब उम्मीदवार “ऑनलाइन आवेदन करें” लिंक पर क्लिक करें।

    UP Handicapped Pension
    UP Handicapped Pension
  • STEP 4 – उम्मीदवार “नया फॉर्म” लिंक पर क्लिक करें।

    UP Handicapped Pension
    UP Handicapped Pension
  • STEP 5 – विकलांग पेंशन योजना (UP Viklang Pension Yojana)यूपी ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म खुलेगा

    UP Handicapped Pension
    UP Handicapped Pension
  • STEP 6 – आवेदन पत्र में सभी आवश्यक जानकारी भरें।
  • STEP 7 – अब “Save” बटन पर क्लिक करें।

आवेदन पत्र की ऑनलाइन स्थिति की जांच कैसे करें?

सभी आवेदक जो उत्तर प्रदेश विकलांग जन पेंशन योजना के लिए पंजीकृत है नीचे दिए गए सरल चरणों का पालन करते हुए अपने आवेदन की स्थिति की जांच कर सकते हैं –

  • सबसे पहले, आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं ।
  • उसके बाद, स्थिति विकल्प (आवेदन की स्थिति) पर क्लिक करें ।
  • एक नया टैब स्क्रीन पर दिखाई देगा,
  • उसके बाद, अपने उपयोगकर्ता आईडी और पासवर्ड विवरण दर्ज करें और प्रस्तुत मारा
  • आपकी अनुप्रयोग स्थिति आपकी स्क्रीन पर दिखाई देगी.

 

उत्तर प्रदेश विकलांग जन पेंशन योजना के तहत यूपी सरकार राज्य के शारीरिक रूप से अक्षम लोगों को वित्तीय लाभ प्रदान करेगी जो काम करके अपना जीवनयापन अर्जित करने में असमर्थ हैं । यह विकलांग लोगों को पेंशन प्रदान करने के लिए अपनी आजीविका कमाने और उनके परिवार के सदस्यों या रिश्तेदारों के आधार पर बिना स्वतंत्र रहना होगा।

 

उपरोक्त जानकारी उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही विकलांग pension योजना (handicapped pension) के संबंध में है, इसकी अतिरिक्त जानकारी और ऑनलाइन आवेदन देने के लिए निम्न दिए हुए लिंक पर क्लिक करें-

http://sspy-up.gov.in/

http://sspy-up.gov.in/IndexHANDICAP.aspx

 

 

उत्तर प्रदेश रोजगार मेला (UP ROJGAR MELA) 2018, ऑनलाइन आवेदन! 70000 नौकरियाँ! सुनहरा अवसर!

0

क्या आप उत्तरप्रदेश में हैं? क्या आप बेरोजगार हैं और एक नौकरी की तलाश में हैं? तो उत्तर प्रदेश सरकार लायी है, आपके लिए उत्तरप्रदेश रोजगार मेला, 2018!

सभी नौकरी चाहने वालों के लिए शुभ समाचार, यूपी रोजगार विभाग यूपी के विभिन्न जिलों में कई नौकरी मेलों को व्यवस्थित करने जा रहा है। आवेदन के लिए सेवायोजन वेबसाइट पर पंजीकरण कर सकते हैं। और सभी नौकरियों के लिए आवेदन भी कर सकते है।

उत्तर प्रदेश के sevayojan कार्यालयों के द्वारा निजी क्षेत्र में बेरोजगार अभ्यर्थियों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के प्रयत्न किये जा रहे हैं नियोजकों एवं बेरोजगार  अभ्यर्थियों को एकही स्थान पर इकठ्ठा कर sewayojan कार्यालय के द्वारा रोजगार मेले का आयोजन किया जाता है! जिसमें नियोजक अपनी आवश्यकता के अनुसार बेरोजगार अभ्यर्थियों का चयन करते हैं एवं बेरोजगार अभ्यर्थियों को भी अपनी इच्छा के अनुसार कंपनी का चयन करने की स्वतंत्रता पूर्ण रूप से रहती है!
इस मेले वे सभी अभ्यर्थी भाग सकते हैं जो पढ़े लिखें हैं और जिनके पास कोई रोजगार नहीं है। इस आयोजित मेले में हाई स्चोल 10th  एवं 12th ग्रेजुएट बीए बीएससी कैंडिडेट भाग ले सकते हैं। युवाओं को रोजगार देने के उद्देश्य से उत्तरप्रदेश सरकार ने ऑनलाइन सेवा भी उपलब्ध कराई है! जिसके माध्यम से युवा बेरोजगार अपनी योग्यता अनुसार अपनी मनचाही नौकरी प्राप्त कर सकते हैं!

 

अभ्यर्थी को नौकरी पाने के लिए up sewayojan में प्रतिभाग करना आवश्यक है! sevayojan की वेबसाइट पर सभी जानकारी उपलब्ध कराइ गयी है, जिसके अंतर्गत जाकर युवा प्रतिभागी अपनी योग्यता के अनुसार आवेदन कर सकते हैं और सेवायोजन में रजिस्टर होने के बाद वे उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा आयोजित रोजगार मेले में प्रतिभागी बन सकते हैं!

अधिसूचना के अनुरूप जिन अभ्यर्थियों की प्रोफाइल सम्बंधित किसी भी जॉब से अगर मैच करती है तो उसे सिस्टम जनरेटेड मेल प्रेषित कर दी जायेगी कि आपकी योग्यता, कौशल और अनुभव के आधार पर पोर्टल पर जॉब प्रेषित की गयी है जिसमे आप “प्रथम आओ प्रथम पाओ” के आधार पर आवेदन कर सकते हैं!

ऐसे आवेदित अभ्यर्थियों की सूची नियोजक एवं एडमिन पैनल द्वारा प्रदर्शित करने की व्यवस्था भी की गयी है, नियोजक द्वारा उक्त सूची के आधार पर अपनी आवश्यकता अनुरूप जानकारी भी पोर्टल पर दी गयी है, जिसके अनुसार ऐसे अभ्यर्थियों को भी सॉर्ट लिस्टेड किया जा सकेगा जिनके प्रोफाइल जॉब के अनुरूप सम्बंधित नियोजक की आवश्यकताओं से मैच करते हैं! sewayojan अधिकारियों के द्वारा ईमेल के माध्यम से रोजगार मेले में आमंत्रिक किये हुए अभ्यर्थी के लिए सम्बंधित जोन की रोजगार मेलों के आयोजन के लिए सम्बंधित जनपद स्तरीय समिति द्वारा संपादित व्यवस्था की गयी है! चयन के उपरान्त नियोजक चयनित अभ्यर्थियों की सूची sewayojan अधिकारी उपलब्ध कराएँगे जिसको उपोर्तल पर अपलोड किया जायेगा!

उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा आयोजित इस रोजगार मेले में लाभ उठाने के लिए आप अपने जिले या तहसील में इस मेले की जानकारी के लिए आप नीचे दी गयी सूची के द्वारा विस्तारपूर्वक जानकारी पा सकते हैं!

उत्तरप्रदेश रोजगार मेला (up job fair) २०१८, उत्तरप्रदेश रोजगार विभाग आगरा, मथुरा, कानपुर में रोजगार मेले का आयोजन करेगा! बलिया, अलीगढ, हरदोई, चित्रकूट, फैजाबाद, एटा, सीतापुर, इलाहबाद में रोजगार मेले का आयोजन किया जा रहा है!

नीचे देखिए

लखनऊ, नॉएडा रोजगार मेला, बनारस, सावस्ती, हापुर, सुल्तानपुर, हरदोई up rojgar mela 2018, आदि की जानकारी उत्तरप्रदेश sewayojan विभाग द्वारा आयोजित रोजगार मेले की जानकारी दिनांक और समय का विवरण नीचे दिया जा रहा है!

क्र ज़िला दिनांक रोजगार मेले का स्थान
1 जौनपुर 31/10/2018 राजकीय औद्‍योगिक प्रशिक्षण संस्थान सिद्दीकपुर जौनपुर।
2 वाराणसी 30/10/2018 राजकीय अाई०टी०अाई०परिसर‚ चौकाघाट‚ वाराणसी।
3 रामपुर 26/10/2018 जिला सेवायोजन कार्यालय‚रामपुर
4 हमीरपुर 26/10/2018 जी० आर ० वी ० इन्टर कालेज राठ: {हमीरपुर }
5 अम्बेडकर नगर 26/10/2018 Government ITI,Akbarpur,Ambedkarnagar
6 अलीगढ 26/10/2018 क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय‚ राजकीय आई०टी०आई० हास्टल परिसर‚ अलीगढ
7 महोबा 26/10/2018 जिला सेवायोजन कार्यालय परिसर महोबा
8 उन्नाव 26/10/2018 जिला सेवायोजन कार्यालय आई०टी०आई० परिसर जिला उन्नाव।
9 हापुड 26/10/2018 INDRA GANDHI I T I DELHI ROAD HAPUR
10 फर्रूखाबाद 26/10/2018 जिला सेवायोजन कार्यालय‚ फतेहगढ
11 देवरिया 25/10/2018 जिला सेवायोजन कार्यालय‚ निकट जिला जेल ‚सलेमपुर रोड‚ जिला–देवरिया।
12 मिर्जापुर 25/10/2018 राजकीय आद्‍योगिक प्रशिक्षण संस्थान बथुआ मीरजापुर ⁄ आई0टी0आई0 परिसर
13 गाजीपुर 25/10/2018 राजकीय औद्‍योगिक प्रशिक्षण संस्थान‚ गाजीपुर परिसर।
14 बुलन्दशहर 24/10/2018 District Employment Office, Near Vikas Bhawan, Railway Road, Bulandshahr
15 जालौन 24/10/2018 जिला सेवायोजन कार्यालय‚ अम्बेडकर चौराहे के पास उरई
16 अमेठी 24/10/2018 Manishi Mahila Mahavidyalaya Parisar, Gauriganj,Amethi
17 कौशाम्बी 24/10/2018 राजकीय आई०टी०आई० मंझनपुर कौशाम्बी परिसर पुलिस लाइन के सामने
18 आजमगढ 24/10/2018 राजकीय औद्‍योगिक प्रशिक्षण संस्थान आई०टी०आई० परिसर हर्राकीचुंगी आजमगढ。
19 संत रविदास नगर 23/10/2018 पुरानी कोलेट्रेक्ट बालीपुर ज्ञानपुर भदोही
20 फतेहपुर 16/10/2018 जिला सेवायोजन कार्यालय ,आई0टी0आई0 रोड, फतेहपुर।
21 सहारनपुर 16/10/2018 क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय‚ दिल्ली रोड‚ सहारनपुर
22 मुरादाबाद 16/10/2018 क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय‚मुरादाबाद
23 लखनऊ 15/10/2018 Regional Employment Exchange Lalbagh Lucknow
24 हरदोई 13/10/2018 iti hardoi, near lucknow chugi hardoi
25 लखनऊ 12/10/2018 Regional employment exchange lalbagh LDA campus Lucknow
26 अलीगढ 12/10/2018 क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय‚ राजकीय आई०टी०आई० हास्टल परिसर‚ अलीगढ
27 मिर्जापुर 12/10/2018 क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय परिसर अनगढ रोड मीरजापुर
28 आगरा 11/10/2018 Regional Employment Exchange Agra
29 पीलीभीत 11/10/2018 जिला सेवायोजन कार्यालय पीलीभीत
30 कानपुर नगर 11/10/2018 District Employment office G T Road kanpur nagar
31 बाँदा 11/10/2018 क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय‚चित्रकूटधाम मण्डल–बॉदा।{कार्यालय परिसर}
32 इलाहाबाद 10/10/2018 क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय इलाहाबाद
33 वाराणसी 10/10/2018 क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय‚ चाैकाघाट‚ वाराणसी
34 गौतमबुद्व नगर 10/10/2018 जिला सेवायोजन कार्यालय‚ सूरजपुर–दादरी रोड‚ गौतमबुद्धनगर।
35 बरेली 09/10/2018 GOVT WOOD WORKING ITI CIVIL LINE BAREILLY NEAR VIKAS BHAWAN.
36 मेरठ 09/10/2018 Govt ITI Saket Meerut. ( For Technicle Candidates Only)
37 फैजाबाद 09/10/2018 राजकीय आई.टी.आई. परिसर,बेनीगंज,फैजाबाद।
38 गाजियाबाद 09/10/2018 District Employment office/ Model career centre collectorate compund rajnagar Ghaziabad
39 मेरठ 08/10/2018 Govt I T I Saket Meerut (Non Technicle Candidates Only)
40 गोरखपुर 06/10/2018 Regional Employment Office Gorakhpur
41 इलाहाबाद 05/10/2018 Regional Employment Office Allahabad

  

सभी रोजगार मेलों की रिक्तियों की जानकारी के लिए नीचे दी जा रही प्रक्रिया को अपनाएँ!

 

  • सबसे पहले ऊपर दिए जा रहे लिंक पर क्लिक करें आपको ऐसा पेज दिखाई देगा!
  1. इसके बाद नौकरियों के प्रकार, नौकरियाँ, वेतन सीमा, सेक्टर, जिला, और शैक्षणिक योग्यता का चुनाव करें!
  2. इसके बाद खोजें बटन पर क्लिक करें! आपको चयनित रोजगार मेले की जानकारी प्राप्त हो जायेगी!

निष्कर्ष

 

प्रिय नौकरी खोजकर्ता ऊपर दी गयी सभी जानकारियों के माध्यम से आप अपनी इच्छा अनुसार नौकरी का चयन अपनी योग्यता, कौशल और अनुभव के आधार पर कर सकते हैं, उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा आयोजित किये जाने वाले रोजगार मेलों के माध्यम से प्रदेश के अनेकानेक युवाओं ने रोजगार एवं नौकरियां प्राप्त की हैं! इसी क्रम में इस वर्ष भी रोजगार मेले का आयोजन उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किया जा रहा है, विभिन्न क्षेत्रो से जुड़े अभ्यर्थी सेवायोजन की वेबसाइट के माध्यम से अपनी इच्छानुसार नौकरी का चयन कर सकते हैं! यह कहा जा सकते है कि रोजगार मेले का उद्देश्य बेरोजगार युवा अभ्यर्थियों को नौकरी सहज रूप से उपलब्ध करना है! ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से यह कार्य और भी सरल हो गया है जिसके माध्यम से अब कहीं से भी युवा अभ्यर्थी किसी भी मनचाही नौकरी के लिए अपना आवेदन उत्तरप्रदेश सरकार के इस पोर्टल से दे सकता है! इस पोर्टल के माध्यम से लाभान्वित होने वाले सभी बेरोजगार अभ्यर्थियों को एवं नियोजकों को एक स्थान पर आमंत्रित कर उन्हें परस्पर एक दूसरे के संपर्क में लाकर उत्तरप्रदेश सरकार रोजगार को सहज और सरलतम तरीके से उपलब्ध कराना चाहती है, इसी उद्देश्य की पूर्ती के लिए यह पोर्टल युवाओं के लिए मददगार साबित होगा, इस पोर्टल के माध्यम से युवा बरोजगारों को अब रोजगार प्राप्त करना सहज और सरल हो जाएगा! आवेदन की विधि अत्यंत सरल होने के साथ साथ इस प्रक्रिया के द्वारा कार्य शीघ्र होने की संभवना बढ़ गयी है, अतः कहीं से भी बैठा हुआ अभ्यर्थी अपनी शिक्षा योग्यता और कौशल अनुभव आदि के आधार पर अब सहजतापूर्वक रोजगार प्राप्त कर सकता है! सभी रोजगारों और रिक्तियों की सूची क्रमशः इस वेबसाइट के माध्यम से आपको सहज ही प्राप्त हो जायेगी और ऑनलाइन पोर्टल होने के कारण आपको रोजगार के लिए कहीं भटकने की आवश्यकता नहीं होगी, इस sewayojan पोर्टल के माध्यम से आप नयी रिक्तियों की जानकारी भी प्राप्त कर सकते हैं, जिसके आधार पर आप नयी नौकरियों के सम्बन्ध में भी आयोजन कर सकते हैं, इन रिक्तियों में आवेदन के लिए आपको कोई नयी प्रोसेस से नहीं गुजरना होगा बल्कि आपको अपनी शिक्षा, योग्यता और अनुभव के आधार पर उन रिक्तियों के विषय में जानकारी उपलब्ध हो जायेगी जिसमे आपकी दी हुयी जानकारी मैच करेगी, एक बार आपकी जानकारी दी गयी रिक्तियों से मेल करती है तो आपको सिस्टम जनरेटेड मेल प्राप्त हो जाएगा और आप रोजगार मेले के प्रतिभागी बन जायेंगे!

नीचे दिए जा रहे लिंक्स पर जाकर आप और अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और आवेदन कर सकते हैं!

 

आवश्यक लिंक

 

http://sewayojan.up.nic.in/jobs.htm

http://sewayojan.up.nic.in/RojgarMela.aspx

 

{Apna Khata Rajasthan}अब घर बैठे पाइए अपनी जमीन के सारे दस्तावेज। जानिए क्या है राजस्थान का अपना खाता?

0
rajasthan apna khata
rajasthan apna khata

राजस्थान अपना खाता – ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड राजस्थान | Online Land Records From Apna Khata | ऑनलाइन जमाबंदी नकल राजस्थान और खसरा नक्शा

अगर हमें अपनी जमीन का नक्सा, खसरा नंबर या अपना खाता (Apna khata ) की जरूरत होती थी, तो हमें सरकारी कार्यालय के चक्कर लगाने पड़ते थे. कई दिनों तक चक्कर काटने के बाद फिर कहीं जा कर हमें जानकारी मिलती थी. इसमें हमारा कई सारा समय बर्बाद भी होता था. आम जनता के लिए ये एक बड़ी परेशानी थी, लेकिन राजस्थान सरकार ने जनता की इस परेशानी को समझा और जमीन से संभंधित सारा काम ऑनलाइन कर दिया. राज्य सरकार ने इसके लिए वेब प्रोटेल अपना खाता (http://apnakhata.raj.nic.in) लांच किया है.

अब इससे घर बैठे एक क्लीक से हमें अपनी जमीन का नक्शा, खसरा, खतौनी, खाता सब कुछ मिल जाता है. इससे हमारा कई सारा समय बच जाता है. आज हम आपको अपना खाता (ApnaKhata) के बारे में विस्तार के बताएँगे.

अपना खाता राजस्थान (apna khata rajasthan) क्या है?

अपना खाता राजस्थान (apna khata rajasthan) राज्य सरकार की सरकारी वैबसाइट, जो राजस्व विभाग द्वारा लोगो को सहूलियत प्रदान करने के लिए बनाई गई है .

अपना खाता से आप ऑनलाइन अपना खाता, राजस्थान भूलेख नक्शा bhulekh Rajasthan, खसरा , खतौनी, जमाबंदी (Jamabandi) आसानी से डाउनलोड कर सकते है. एक अच्छी बात ये है कि सरकार कि ये सेवा बिलकुल निशुल्क है.

अपना खाता राजस्थान का हमारे लिए उपयोग!

अपना खाता एक बड़े ही काम की वेबसाइट है. इस वेबसाइट में आपको अपनी जानकारी डालनी होगी. जैसे आपका नाम, अपने गांव का नाम, तहसील एवं जिला का नाम इत्यादि. इसके बाद आपको जानकारी मिल जायेगी.

  • अपना खाता वेबसाइट से आप ऑनलाइन जब मर्जी अपनी जमीन के बारे से सारी जानकारी को चेक कर सकते है.
  • इस वेबसाइट से हम धोखा खाने से भी बच सकते हैं, जी हाँ, अगर हमें कोई जमीन खरीदनी है. तो हम इसे अपना खाता apnakhata raj nic वेबसाइट से देख सकते हैं कि उस जमीन पर किसी प्रकार का लोन तो नहीं है, या फिर किसी प्रकार केस तो नहीं लगा है.
  • आप अगर बैंक से लोन लेना चाहते है तब भी आपको जमाबंदी Jamabandi की जरूरत होती है, जो इस वेबसाइट से आसानी से मिल जाएगी.
  • अपना खाता Apnakhta  में आप अपना खसरा नम्बर, अपना जमाबंदी Jamabandi नम्बर आसानी से पता कर सकते हैं.
  • अपना खाता के जरिये हमें बार-बार पटवारी के चक्कर नहीं लगाने होंगे, इसके साथ ही इससे कालाबाजारी पर भी लगाम लगेगी.

राजस्थान में अपनी जमाबंदी की प्रतिलिपि प्राप्त करने के लिए, इन चरणों का पालन करें:

  1. जमाबंदी Jamabandi की प्रतिलिपि प्राप्त करने के लिए सबसे पहले आपको अपना खाता राजस्थान की आधिकारिक वेबसाइट पर raj.nic.in जाना होगा.

    Apna Khata
    Apna Khata
  2. वेबसाइट का होम पेज दिखाई देगा, जिसमें आपको राजस्थान राज्य का एक नक्शा दिखाई देगा. आप जिस जिला से है आपको उस जिले पर क्लिक करना है.

    Apna Khata
    Apna Khata
  3. जिस जिले पर आप क्लिक करेंगे, आपको उस जिला के अंतर्गत जीतने भी तहसील आती हैं. सबकी सूची दिख जाएगी.

    Apna Khata
    Apna Khata
  1. इसके बाद आपको अपनी तहसील पर क्लिक करना है.
Apna Khata
Apna Khata

 

  1. तहसील पर क्लिक करते है, आपके सामने उस गाँव पूरी लिस्ट आ जाएगी. साथ में आपको हिंदी के अक्षर दिखाई देंगे, आपको अपने गाँव का पहला अक्षर पर क्लिक करना है और फिर आपके गाँव की पूरा जानकारी आपके सामने होगा.
  2. अब आपको जमाबंदी देखने के लिए यहा पर अपना खाता नंबर , खसरा नंबर या फिर खतौनी नंबर भरना है.
  3. बस जमाबंदी Jamabandi  को डाउनलोड कर लीजिये.

राजस्थान भूलेख नक्शा खसरा खतौनी अपने नाम से खोजे :-

अगर आपको अपनी जमीन के खाता, खतौनी या फिर खसरा नंबर नहीं मालूम है, तो घबराइए नहीं आपको जमीन की जानकारी मिल जाएगी.

आप अपनी जमीन की जानकारी अपने नाम से भी खोज सकते हैं.

Apna Khata
Apna Khata

जहाँ आपको खाता, खसरा नम्बर की जानकरी भरनी थी, वहां एक और विकल्प मिलता है, अगर नंबर पता नहीं है तो अपने नाम से खोजे. बस वही पर क्लिक करें और अपना नाम भरें, इसके बाद जमाबंदी को डाउनलोड कीजिये. apnakhata.raj.nic.in से जिन लोगों को अपना खाता ऑनलाइन देखना होता है वो यहां से देख एवं डाउनलोड कर सकते हैं. इस खाते में संबंधित जानकारी जैसे कि खाते की नकल देखना, अपने जमाबंदी की नकल भी प्राप्त कर सकते हैं. जमीन से जुड़े कागजात जैसे कि खसरा नंबर, खतौनी नंबर, भी प्राप्त कर सकते हैं.

अपना खाता पर भूलेख नक्शा कैसे देखे :-

भूलेख (bhulekh Rajasthan) नक्शा निकलवाना पहले कितना कठिन काम था, पटवारी को चक्कर लगाते लगाते चप्पल घिस जाती थी. लेकिन अब ऐसा नहीं है. आप बड़ी आसानी से घर पर बैठ कर भी अपनी जमीन का नक्शा देख सकते हैं.

  • इसके लिए सबसे पहले आपको अपना खाता राजस्थान (apna khata rajasthan) की आधिकारिक वैबसाइट raj.nic.in पर जाना होगा.
  • इसके लिए भी आपको ऊपर दिये गए सारे स्टेप फॉलो करने होंगे. बस आपको जमाबंदी की जगह पर भूलेख नक्शा पर क्लिक करना है. इसके बाद आपकी जमीन का नक्शा आपके सामने होगा.

 

दोस्तों, राजस्थान सरकार द्वारा शुरू किया गया अपना खाता (apnakhata raj nic) पोर्टल से आप जमीन से जुड़े कागजात जैसे कि अपना खाता नकल (Apnakhata), जमाबंदी (Jamabandi), खाता खसरा नकल, राजस्थान खाता नकल, अपना खाता (राजस्थान भू-अभिलेख) इत्यादि की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. यहां पर आप अपनी निजी जानकारी डालकर हर प्रकार की जानकारी देख सकते है. अपना खाता राजस्थान डिजिट इंडिया की तरह एक बड़ा कदम है, इससे हमारी कई तरह की परेशानी दूर हो गई है, सरकार तो डिजिट हो रही है, हमें भी अब डिजिट होना पड़ेगा. इससे हमारा बहुत समय बचेगा, बचे हुए समय का हम भरपूर्ण उपयोग कर सकते हैं.

अपना खाता राजस्थान हेल्पलाइन नंबर

यदि आपको अपना खाता राजस्थान को इस्तेमाल करने पर कोई परेशानी हो रही है या आपको कोई सहायता चाहिए हो तो आप निम्न स्टेप फ़ॉलो कर सकते हैं.

  सहायता प्राप्त करने के लिए आप http://apnakhata.raj.nic.in/rev_phone.aspx  पर क्लिक करें.

इसके बाद आपके सामने एक पेज आएगा, इस पर अपना जिला चुने.

जिला चुनने के पश्चात आपके सामने फ़ोन नंबर की लिस्ट खुल जाएगी. आप नंबर से और अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

जानिये क्या है महा भूलेख (महाराष्ट्र भूमि अभिलेख ऑनलाइन 7/12 व 8 अ)?

0

ज्यादातर लोग नौकरियों, सेवाओं या किसी भी तरह के कारोबार के कारण शहरों में रह रहे हैं । अधिकांश लोगों की अपने गांवों में भूमि है, किन्तु कितनी भूमि है? वहां कौन सी फसल है?  इस बारे में जानकारी नहीं है! यदि आप अपनी कृषि भूमि के बारे में अधिक जानना चाहते हैं तो सातबारा (7/12) महत्वपूर्ण है. आपको अपनी भूमि के बारे में विस्तृत जानकारी satbara utara का उपयोग करके मिलता है । महाराष्ट्र सरकार ने महाभूलेख नाम का पोर्टल विकसित किया जहां आपको 7/12 और 8A रिकॉर्ड्स के माध्यम से अपनी भूमि की विस्तृत जानकारी मिलती है।


क्या है महाभूलेख?

 

Mahabhulekh (महाराष्ट्र भूमि अधिलेख) महाराष्ट्र राजस्व विभाग से सम्बंधित महाराष्ट्र राज्य के लिए राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) द्वारा विकसित सर्वश्रेष्ठ ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड सॉफ्टवेयर प्रणाली में से एक है!
मनु के काल से ही जमीन या उसपर आधिपत्य सामान्य जनमानस से सम्बंधित है! विभिन्न राजसत्ताओं के बदलने के साथ ही लोगों में भूमि अधिग्रहण को लेकर धारणाएं भी बदली हैं! इसी तरह भूमि अधिग्रहण के कानूनों में भी संशोधन होते गए और आज का भूमि अभिलेख विभाग उन्ही बदलावों का परिणाम है! भूमि अभिलेख विभाग ब्रिटिश काल से ही अस्तित्व में आया, भूमि अभिलेख विभाग के द्वारा किये गए कार्यों, वतमान कार्यों और भविष्य में किये जाने वाले कार्यों की सूचना सामान्य जनमानस तक पहुंचे इसकी भी व्यवस्था विभाग द्वारा की गयी है!

 

आज के समय में विभिन्न वेब पोर्ट्ल्स और वेबसाइट्स के माध्यम से mahabhuabhilekh की जानकारी प्राप्त की जा सकती है. महाराष्ट्र राज्य के भूमिअभिलेख के सम्बन्ध में महाभुलेख एक ऐसा सर्वश्रेष्ठ ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड सॉफ्टवेयर प्रणाली में से एक है जिसके द्वारा महाराष्ट्र राज्य के भुमिअभिलेख की जानकारी सहजता से जुटाई जा सकती है!

Mahabhulekh का उपयोग क्या है?

आज के बदलते युग में जब विज्ञान और प्रौद्योगिकी का वर्चस्व अपने चरम पर है और आज इन्टरनेट के माध्यम से साड़ी दुनिया की जानकारी सहजता से प्राप्त की जा सकती है तब महाराष्ट्र राज्य के भुमिअभिलेख की जानकारी satbara utara या ८ अ की जानकारी प्राप्त करने के लिए भी यह माध्यम अत्यंत सरल और सहज बन पड़ा है!

 

अब आप महाराष्ट्र में भूमि खरीदने का उद्देश्य रखते हैं तो महाभूलेख के माध्यम से भूमिअभिलेख का कोई भी दस्तावेज, satbara utara (7/12) या ८अ, मालमत्ता पत्रक आदि! आराम ऑनलाइन ही से प्राप्त किये जा सकते हैं!  

 

Mahabhulekh.maharashtra.gov.in एक वेबसाइट है जो महाराष्ट्र राज्य के सभी क्षेत्रों के लिए Online satbara व 8 अ/ मालमत्ता पत्रक का रिकॉर्ड रखता है । 7/12 Utara जमीनों के सर्वे नंबर, जमीन के मालिक के नाम, जमीन का क्षेत्रफल, जिस प्रकार की खेती हो या फसलें जो भूमि पर उगाई जाती हैं आदि की जानकारी देता है।

 

आप महाराष्ट्र में ज़मीन के 8a (८अ) और प्रॉपर्टी शीट (मालमत्ता पत्रक) जैसे डॉक्यूमेंट्स पाने के लिए या महाभुलेख को डाउनलोड करने के लिए पीडीएफ और सर्च पर भी जा सकते हैं।

7/12 क्यों महत्वपूर्ण है?

भारत में संपत्ति खरीदने के लिए कई दस्तावेज आवश्यक हैं, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि संपत्ति की खरीद किसी भी दावे और अभियोगों से कानूनी रूप से मुक्त हो । महाराष्ट्र में संपत्ति की खरीद के लिए 7/12 के दस्तावेज निकालने आवश्यक हैं। जब क्रेता राज्य के ग्रामीण या अर्ध-ग्रामीण क्षेत्रों में भूखंडों में निवेश कर रहा है तो यह आवश्यक कागज का एक महत्वपूर्ण नमूना है. जब से राज्य ने मुंबई के उपनगरीय क्षेत्रों सहित महाराष्ट्र के शहरी क्षेत्रों में इस दस्तावेज का उपयोग रद्द कर दिया है, दस्तावेज़ केवल उन स्थानों में महत्व रखता है जहां भूमि भूखंडों का शहर सर्वेक्षण नंबर नहीं है ।

 

जब आप एक भूखंड या कृषि भूमि खरीदना चाहते हैं तब उस भूमि का 7/12 satbara Utara पहले प्राप्त करने की जरूरत है । 7/12 Utara भूमि के संबंध में सभी संदेह साफ करता है । आपको याद होगा कि सातबारा एक मालिक से दूसरे मालिक तक लैंड ट्रान्सफर के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता।

7/12 (satbara utara) इस तरह के सर्वेक्षण संख्या, क्षेत्र, तिथि और मौजूदा मालिक के नाम के बारे में और अधिक विवरण के रूप में देश के एक विशिष्ट टुकड़े के बारे में विवरण विहित दस्तावेज़ है । यह दो रूपों का एक संयोजन है । फार्म 12 भूमि के प्रकार और उपयोग के बारे में विशेष सूची है जबकि भूमि मालिकों और उनके अधिकारों के विवरण के बारे में वार्ता 7 में है। ‘ satbara utara ‘ महाराष्ट्र में 7/12 दस्तावेज के लिए प्रयोग किया जाने वाला क्षेत्रीय शब्द है । यह दस्तावेज राज्य के राजस्व विभाग द्वारा कर संग्रह प्रयोजन के लिए रखा गया है । यह  तहसीलदार या संबंधित भूमि प्राधिकरण द्वारा जारी किया जाता है । खरीदार सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत सरकारी शुल्क या फाइल याचिका का भुगतान करने, प्रतिलिपि प्राप्त करने के बाद दस्तावेज़ की प्रतिलिपि प्राप्त कर सकते हैं ।

 

कैसे प्राप्त करें महाभूलेख ऑनलाइन सातबारा (Online satbara) या (Online 7/12)?

 

अगर आप महाराष्ट्र में 7/12 उतारा (satbara utara) , 8a (८ अ) या मालमत्ता पत्रक (malmatta patrak) ऑनलाइन जांच करना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए चरणों का पालन करें।

 

  1. महाभूलेख ऑफिशियल वेबसाइट maharashtra.gov.in पर जाएं ।
  2. अपना जिला, तालुका & गांव ड्रॉपडाउन से चुनें ।
  3. सर्वेक्षण संख्या/आंत संख्या या प्रथम नाम या मध्य नाम या उपनाम या पूरा नाम दर्ज करें!
  4. “७/ १२ पहा” बटन पर क्लिक करें और 7/12 utara (७/१२) प्राप्त करें!

 

अगर आप महाराष्ट्र के इन वर्गों में से किसी में भी स्थित हैं तो आप आसानी से भूमि अभिलेख प्राप्त कर सकते हैं!

 

  • पुणे (mahabhulekh pune) (कोल्हापूर, पुणे, सांगली, सतारा, सोलापूर)
  • औरंगाबाद (उस्मानाबाद, औरंगाबाद, जालना, नांदेड, परभणी, बीड, लातूर, हिंगोली)
  • नागपूर (गडचिरोली, गोंदिया, चंद्रपूर, नागपूर, भंडारा, वर्धा)
  • कोकण (ठाणे, पालघर, मुंबई उपनगर, रत्नागिरी, रायगड, सिंधुदुर्ग)
  • अमरावती (अकोला, अमरावती, बुलढाणा, यवतमाळ, वाशिम)
  • नाशिक (अहमदनगर, जळगाव, धुळे, नंदुरबार, नाशिक)

महाभुमिअभिलेख(mahabhumiabhilekh)महाराष्ट्र app!

एंड्रॉयड फोन से आवेदन के लिए कई satbara utara app उपलब्ध हैं जो आपको अपनी जमीन से संबंधित जानकारी प्राप्त करने में मदद कर सकता है!

इसके माध्यम से आप Mahabhulekh 7/12, 8 (ए), 6 आदि, कुल क्षेत्र, कुल मूल्यांकन मूल्य, कार्यकाल, भूमि, भूमि उपयोग, किसान का नाम, स्वामित्व विवरण और भोजा (ऋण) आदि प्राप्त कर सकते हैं!

आप निम्न जानकारी की मदद से भूमि रिकॉर्ड देख सकते हैं

1) सर्वेक्षण नं

2) गांव

३) तालुका और जिले का नाम

 

 

इस लेख का उद्देश्य आपको satbara utara mahabhulekh 7/12 के सम्बन्ध में पर्याप्त जानकारी देना है, महाराष्ट्र भूमिअभिलेख के विषय में अधिक जानकारी और mahabhulekh 7/12 utara (satbara utara) प्राप्त करने के लिए आप निम्न वेबसाइट पर जा सकते हैं!

https://mahabhulekh.maharashtra.gov.in/

https://mahabhulekh.org/

https://bhumiabhilekh.maharashtra.gov.in